द्वितीय विश्वयुद्ध के प्रमुख चरणों एवं उसके परिणाम

द्वितीय विश्वयुद्ध के प्रमुख चरणों एवं उसके परिणाम प्रथम महायुद्ध 918-19 में समाप्त हुआ था और उसके बाद 20 वर्ष का अन्तराल आया। वर्साय की सन्धि पर विचार करते हुए मार्शल फौज ने कहा था कि यह सन्धि शान्ति सन्धि नहीं बल्कि 20 वर्ष के लिये विराम सन्धि है। प्रथम विश्व युद्ध के बाद जो […]

द्वितीय विश्वयुद्ध के प्रमुख चरणों एवं उसके परिणाम

द्वितीय विश्वयुद्ध के प्रमुख चरणों एवं उसके परिणाम प्रथम महायुद्ध 918-19 में समाप्त हुआ था और उसके बाद 20 वर्ष का अन्तराल आया। वर्साय की सन्धि पर विचार करते हुए मार्शल फौज ने कहा था कि यह सन्धि शान्ति सन्धि नहीं बल्कि 20 वर्ष के लिये विराम सन्धि है। प्रथम विश्व युद्ध के बाद जो […]

ऑस्ट्रेलिया के आर्थिक आधार

ऑस्ट्रेलिया के आर्थिक आधार  ऑस्ट्रेलिया की गणना विश्व के विकसित देशों में की जाती है। यहाँ के लोगों की प्रति व्यक्ति आय यूरोपीय देशों के समान है। इसकी अर्थव्यवस्था में कृषि, पशुपालन, खनन, निर्माण उद्योग तथा सेवाओं सभी का महत्वपूर्ण योगदान है। ऑस्ट्रेलिया की अर्थव्यवस्था में कृषि, विनिर्माण उद्योग तथा सेवाओं का योगदान क्रमशः 3,25 […]

ऑस्ट्रेलिया के आर्थिक आधार

ऑस्ट्रेलिया के आर्थिक आधार  ऑस्ट्रेलिया की गणना विश्व के विकसित देशों में की जाती है। यहाँ के लोगों की प्रति व्यक्ति आय यूरोपीय देशों के समान है। इसकी अर्थव्यवस्था में कृषि, पशुपालन, खनन, निर्माण उद्योग तथा सेवाओं सभी का महत्वपूर्ण योगदान है। ऑस्ट्रेलिया की अर्थव्यवस्था में कृषि, विनिर्माण उद्योग तथा सेवाओं का योगदान क्रमशः 3,25 […]

ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप का भौगोलिक विवरण

 ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप का भौगोलिक विवरण  विश्व में ऑस्ट्रेलिया का एकमात्र आवासित महाद्वीप है जो पूर्णरूप से दक्षिणी गोलार्द्ध में स्थित है और सभी ओर समुद्रों से घिरा हुआ है। जनसंख्या रहित अंटार्कटिका के अतिरिकत विशव के अनय सभी महाद्वीप किसी न किसी ओर अन्य महाद्वीप से संलान हैं। आस्ट्रेलिया, न्यूजीलण्ड तथा प्रशान्त महासागर में पाये […]

ब्राजील के संसाधन और आर्थिक विकास

ब्राजील के संसाधन और आर्थिक विकास  कृषि (Agriculture)- फसल उत्पादन- ब्राजील की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है। देश की 9% भूमि कृषि के नीचे है तथा 30% कार्येश में संलग्न है। देश के नाटो में 90% योगदान कृषि उत्पादों का ही है। यहाँ . उपनिवेश काल से ही कृषि हो रही है, किन्तु कृषक उत्पादक […]

ब्राजील के संसाधन और आर्थिक विकास

ब्राजील के संसाधन और आर्थिक विकास  कृषि (Agriculture)- फसल उत्पादन- ब्राजील की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है। देश की 9% भूमि कृषि के नीचे है तथा 30% कार्येश में संलग्न है। देश के नाटो में 90% योगदान कृषि उत्पादों का ही है। यहाँ . उपनिवेश काल से ही कृषि हो रही है, किन्तु कृषक उत्पादक […]

ब्राजील के उच्चावच पर संक्षिप्त टिप्पणी

ब्राजील के उच्चावच पर संक्षिप्त टिप्पणी  धरातल (Topography) उच्चावच (relief) के आधार पर ब्राजील को तीन भौतिक भागों में बाँटा जा सकता है- (1)अमेजन बेसिन, (2) ब्राजील का पठार तथा (3) तटवर्ती प्रदेश। 1. अमेजन बेसिन-ब्राजील के उत्तरी-पश्चिमी भाग में अमेजन बेसिन का निम्न भूमियों का विस्तार पश्चिम में एण्डीज पर्वतों से लेकर पूर्व में […]

ब्राजील के उच्चावच पर संक्षिप्त टिप्पणी

ब्राजील के उच्चावच पर संक्षिप्त टिप्पणी  धरातल (Topography) उच्चावच (relief) के आधार पर ब्राजील को तीन भौतिक भागों में बाँटा जा सकता है- (1)अमेजन बेसिन, (2) ब्राजील का पठार तथा (3) तटवर्ती प्रदेश। 1. अमेजन बेसिन-ब्राजील के उत्तरी-पश्चिमी भाग में अमेजन बेसिन का निम्न भूमियों का विस्तार पश्चिम में एण्डीज पर्वतों से लेकर पूर्व में […]

दक्षिण अमेरिका के खनिज संसाधन

 दक्षिण अमेरिका के खनिज संसाधन  दक्षिण अमेरिका में खनिज लौह के अतिरिक्त कई अन्य महत्वपूर्ण खनिज पदार्थ पाये जाते हैं जिनमें मैंगनीज, अभ्रक, टिन, तांबा, बाक्साइट, सीसा, सोना, चाँदी आदि महत्वपूर्ण हैं। शक्ति संसाधनों में पेट्रोलियम और जलविद्युत उल्लेखनीय हैं। (1) लौह अयस्क (Iron ore)- लौह अयस्क के उत्पादन में चीन के बाद ब्राजील का […]