अन्तर्पीढ़ीय संघर्ष के कारण

अन्तर्पीढ़ीय संघर्ष के कारण  अन्तर्पीढ़ीय संघर्ष – अन्तर्पीढ़ीय संघर्ष से तात्पर्य दो अनुक्रमिक पीढ़ियों में पाया जाने वाला ऐसा मतभेद है जो संघर्ष या टकराव की स्थिति उत्पन्न कर देता है। किसी कालेज में नकल को लेकर छात्रों एवं अध्यापकों में पाया जाने वाला टकराव इसका सबसे अच्छा उदाहरण हैं। यदि छात्र तो नकल करना […]

निर्धनता के दुष्परिणाम

निर्धनता के दुष्परिणाम  भारत में निर्धनता एक प्रमुख समस्या बनकर हमारे सामने उपस्थित हुई जो समाज में अनेक कुरीतियों को जन्म दे रहा है। इसी कारण निर्धनता को सभी बुराईयों की जड़ कहा जाता है। निर्धनता से होने वाले प्रमुख प्रभाव अथवा दुष्परिणाम निम्नवत हैं –  (1) परिवार का विघटन–निर्धनता का एक बड़ा दुष्परिणाम परिवारों […]

निर्धनता का अर्थ, परिभाषा एवं कारण

निर्धनता का अर्थ, परिभाषा एवं कारण निर्धनता का अर्थ एवं परिभाषा – निर्धनता समाज की एक सबसे बडी समस्या है। यह एक सापेक्ष शब्द है। जिस प्रकार प्रकाश एवं अंधकार का सम्बन्ध है, उसी प्रकार निर्धनता और प्रचुरता का भी सम्बन्ध है। इनका अर्थ एक दूसरे की तुलना से ही स्पष्ट ही सकता है, ये […]

आन्तरिक पीढ़ी संघर्ष की समस्या

 आन्तरिक पीढ़ी संघर्ष की समस्या आन्तरिक पीढ़ी संघर्ष की समस्या (Problem of Intra-Generation Conflict) –  कार्ल मानहीन (Karl Mannheim) ने स्पष्ट किया है कि पीढ़ियों से सम्बन्धित समस्या एक विशेष समाजशास्त्रीय घटना है जिसका सम्बन्ध जन्म और मृत्यु के द्वारा समाज में नये समूहों के निर्माण और पुराने समूहों के निरसन (elimination) के रूप में […]

तलाक का अर्थ एवं परिभाषा, कारण

तलाक का अर्थ एवं परिभाषा, कारण तलाक का अर्थ एवं परिभाषा कानूनी रूप से वैवाहिक सम्बन्धों का टूट जाना ही तलाक कहलाता है। यह एक ऐसा विधान है जो समाज द्वारा स्वीकृत है तथा वैवाहिक असफलता से सम्बन्धित है। ‘तलाक’ को पारिवारिक विघटन का सूचक माना जाता है क्योंकि यह पारिवारिक संगठन में दरार का […]

घरेलू हिंसा इसके प्रकार, कारण एवं निराकरण

 घरेलू हिंसा  इसके प्रकार, कारण एवं निराकरण  घरेलू हिंसा – घरेलू हिंसा से तात्पर्य परिवार में महिलाओं पर किये जा रहे अत्याचार से है। भारतीय समाज में पारिवारिक हिंसा अत्यन्त प्राचीन धारणा है न कि नवीन मानव समाज में पहले सतीत्व के नाम पर पति की मृत्यु हो जाने पर उसकी विधवा पत्नी को जिन्दा […]

दहेज प्रथा इसके कारण एवं परिणाम

 दहेज प्रथा इसके कारण एवं परिणाम  दहेज – दहेज का सामान्य अर्थ है, वर-मूल्य। कन्या का विवाह करने के उपलक्ष्य में कन्या पक्ष द्वारा वर का जो मूल्य चुकाया जाता है, उसे ही दहेज की संज्ञा दी जाती है। हिन्दू शास्त्रों में ब्रह्म विवाह के समय कन्या पक्ष द्वारा वर पक्ष को वस्त्र तथा आभूषण […]

श्वेतवसन अपराध के कारण एवं स्वरूप (प्रकार)

 श्वेतवसन अपराध के कारण एवं स्वरूप (प्रकार)  श्वेतवसन अपराध के कारण – श्वेतवसन अपराध अलग-अलग समाज में अलग-अलग होते हैं, जिसके पीछे कई कारण मौजूद होते हैं। इन कारणों में प्रमुख हैं।  (1) कानून की जटिलता – कानून की जटिलता का लाभ सफेदपोश अपराधी उठाते रहते हैं और कानून के शिकंजे से बचते रहते हैं। […]

श्वेतवसन अपराध अर्थ एवं परिभाषा, विशेषता

श्वेतवसन अपराध अर्थ एवं परिभाषा, विशेषता श्वेतवसन अपराध अर्थ एवं परिभाषा – सामान्य तौर पर श्वेतवसन अपराधी वे होते हैं जो श्वेत अथवा अच्छे वस्त्र धारण किये होते हैं और अपनी उच्च आर्थिक स्थिति की आड़ में अपने द्वारा किये गये अपराधों को छिपाने में सफल हो जाते हैं और अधिकांश कानून की पकड़ में […]

बाल अपराध की रोकथाम हेतु सरकारी प्रयत्नों

 बाल अपराध की रोकथाम हेतु सरकारी प्रयत्नों  बाल अपराध एक गम्भीर समस्या है यही कारण है कि सरकार का मुख्य प्रयत्न आज बाल-अपराधियों का इस तरह सुधार करना है जिससे वे भविष्य में अपराधी न बन सकें। इसके लिए सरकार द्वारा एक और ऐसे कानून बनाये गये जिनके द्वारा बाल-अपराधियों के साथ सहानुभूति का व्यवहार […]