Definition of Political philosophy ?

Political philosophy Definition of Political philosophy ?Some scholars have also addressed this topic as ‘Political philosophy’. According to them the nature of our subject is theoretical and philosophical, not practical. Under the study topic, we mainly study the basic facts related to political institutions, not their activities. Under this subject, we study the origins of the states […]

Definition of Political philosophy ?

Political philosophy Definition of Political philosophy ?Some scholars have also addressed this topic as ‘Political philosophy’. According to them the nature of our subject is theoretical and philosophical, not practical. Under the study topic, we mainly study the basic facts related to political institutions, not their activities. Under this subject, we study the origins of the states […]

Meaning and Content of politics

Question 3- Under the nomenclature of Politics, briefly discuss various names, make it clear that what is the most appropriate name in your opinion? Or interpret the meaning and content of politics, political science, politics theory, politics philosophy and comparative politics. Or explain the differences in political science, political philosophy and comparative politics. And is […]

Meaning and Content of politics

Question 3- Under the nomenclature of Politics, briefly discuss various names, make it clear that what is the most appropriate name in your opinion? Or interpret the meaning and content of politics, political science, politics theory, politics philosophy and comparative politics. Or explain the differences in political science, political philosophy and comparative politics. And is […]

राजनीतिक सिद्धांत और राजनीति दर्शन Rajnitik siddhant aur Rajniti Darshan

राजनीतिक सिद्धांत   Rajnitik siddhant aur Rajniti Darshan डेविड ईस्टन ने राजनीति शास्त्र में सिद्धान्त की भूमिका और महत्व पर विशेष बल दिया है। ईस्टन को ही यह श्रेय जाता है कि उसने सर्वप्रथम राजनीति सिद्धान्त की आवश्यकताओं की ओर राजनीतिशास्त्रियों को आकर्षित किया। डेविड ईस्टन के अनुसार- “सिद्धान्त का निर्माण राजनीतिशास्त्र को व्यवस्थित विज्ञान बनाने की […]

राजनीतिक सिद्धांत और राजनीति दर्शन Rajnitik siddhant aur Rajniti Darshan

राजनीतिक सिद्धांत   Rajnitik siddhant aur Rajniti Darshan डेविड ईस्टन ने राजनीति शास्त्र में सिद्धान्त की भूमिका और महत्व पर विशेष बल दिया है। ईस्टन को ही यह श्रेय जाता है कि उसने सर्वप्रथम राजनीति सिद्धान्त की आवश्यकताओं की ओर राजनीतिशास्त्रियों को आकर्षित किया। डेविड ईस्टन के अनुसार- “सिद्धान्त का निर्माण राजनीतिशास्त्र को व्यवस्थित विज्ञान बनाने की […]

तुलनात्मक राजनीति का महत्व,अर्थ | Tulnatmak Rajneeti Mahattav Arth

तुलनात्मक राजनीति  का महत्व,अर्थ | Tulnatmak Rajneeti Mahattav Arth परिचय  राजनीति एक सर्वव्यापी गतिविधि है जो हमारे चारो तरफ हमको देखने को मिल जाती है। प्रारंभ से ही एक  राजनीति व्यवस्था की तुलना दूसरे राजनीति व्यवस्था से की जाती रही है।किसी एक राजनीतिक व्यवस्था की अन्य राजनीतिक व्यवस्था से तुलना करने  के तरीके को सामान्य […]

तुलनात्मक राजनीति का महत्व,अर्थ | Tulnatmak Rajneeti Mahattav Arth

तुलनात्मक राजनीति  का महत्व,अर्थ | Tulnatmak Rajneeti Mahattav Arth परिचय  राजनीति एक सर्वव्यापी गतिविधि है जो हमारे चारो तरफ हमको देखने को मिल जाती है। प्रारंभ से ही एक  राजनीति व्यवस्था की तुलना दूसरे राजनीति व्यवस्था से की जाती रही है।किसी एक राजनीतिक व्यवस्था की अन्य राजनीतिक व्यवस्था से तुलना करने  के तरीके को सामान्य […]

क्या राजनीति विज्ञान वास्तव में विज्ञान है ? kya Rajniti Vastav me vigyan hai ?

क्या राजनीति विज्ञान वास्तव में विज्ञान है ? अनेक विद्वान प्राचीन काल से ही राजनीतिशास्त्र को एक विज्ञान के रूप में स्वीकार करते रहे हैं। राजनीतिशास्त्र के जनक अरस्तु ने सर्वप्रथम राजनीतिशास्त्र को सर्वश्रेष्ठ विज्ञान बतलाया था। अपने राज्य विषयक अध्ययन में आरस्तु ने वैज्ञानिक पद्धतियों का सहारा लिया था। बोदा , हांबस,मोंटेस्कू, लेविस, ब्राइस, सिजविक, गार्नर […]

क्या राजनीति विज्ञान वास्तव में विज्ञान है ? kya Rajniti Vastav me vigyan hai ?

क्या राजनीति विज्ञान वास्तव में विज्ञान है ? अनेक विद्वान प्राचीन काल से ही राजनीतिशास्त्र को एक विज्ञान के रूप में स्वीकार करते रहे हैं। राजनीतिशास्त्र के जनक अरस्तु ने सर्वप्रथम राजनीतिशास्त्र को सर्वश्रेष्ठ विज्ञान बतलाया था। अपने राज्य विषयक अध्ययन में आरस्तु ने वैज्ञानिक पद्धतियों का सहारा लिया था। बोदा , हांबस,मोंटेस्कू, लेविस, ब्राइस, सिजविक, गार्नर […]